Read All News

कौशल विकास के विभिन्न पाठ्यक्रमों के साथ भारतीय स्किल डेवलपमेंट विवि, जयपुर के बाद अब यूपी के युवाओं को भी कौशल विकास से जोड़ने की पहल करना चाहता है। आज प्रत्येक संगठन प्रशिक्षित कर्मचारी को नियुक्त करना चाहता है वहीं नौकरी के लिए भटक रहे युवाओं को प्रशिक्षण व नौकरी की तलाश है ऐसे में युवा विवि से नए विकल्पों की उम्मीद कर सकते हैं। गुरूवार को हजरतगंज स्थित अवध इंडिया होटल में हुई प्रेसवार्ता के दौरान विवि के कुलपति डॉ ब्रिगेडियर सुरजीत सिंह पाब्ला से विवि से जुड़ी जानकारी साझा की।

डॉ सुरजीत ने बताया कि कौशल विकास के पाठ्यक्रम के साथ विवि के प्रशिक्षण कोर्स युवाओं के लिए मील का पत्थर साबित होगा। हमने बीएसडीयू में प्रशिक्षण मॉड्यूल बनाए हैं जो छात्रों को मशीनों का व्यवहारिक व तकनीकी ज्ञान देता है। बी.वोक व एम.वोक पाठ्यक्रमों में छात्रों को कारपेंट्री, स्वास्थ्य प्रशिक्षण, उद्योग कौशल, अक्षय उर्जा प्रौद्योगिक,प्लम्बिंग कौशल, आईटी, फ्रिज व ऐसी रिपेयर जैसे कौशल व कई अन्य क्षेत्रों में छात्रों को प्रशिक्षण दिया जाता है।

मल्टीपल निकास प्रणाली से आसान होगा कोर्स

छात्र-छात्राएं पाठ्यक्रम पूरा करने के लिए बाध्य नहीं हैं, वे कभी भी इसे छोड़कर जा सकते हैं।

विवि में छह महीने, एक, दो व तीन साल के विभिन्न विकल्पों के जरिए छात्र-छात्राओं को प्रशिक्षण लेने में सहूलियत होगी।

 (Aaj - Lucknow- 14 June - Pg.No. -08)


(Amar ujala ( My City ) - Lucknow - 14 June - Pg.No. 05)


Request a Callback